Thursday, August 4, 2011

अनकही बातें

                                                                        
अनकही बातें जो दिल कहे
बस कह दीजिये यहाँ
दिल में उठे हर ज़ज्बात

वो बातें जो कहीं ना हों 
बस महसूस की गयी हो 
वो अनकही बातें 

आँखों के पलछिन में
छुपी कुछ आहटें 
वो अनकही बातें 

उम्मीद सभी की ले 
कह गयी मैं यहाँ 
वो अनकही बातें |

- दीप्ति शर्मा 

9 comments:

ईं.प्रदीप कुमार साहनी said...

बहुत सुन्दर दीप्ति जी |

संजय भास्कर said...

वाह बेहतरीन !!!!

संजय भास्कर said...

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग के साथ हार्दिक स्वागत हूँ.......!

अमि'अज़ीम' said...

बहुत खूब.....

अजय कुमार झा said...

वाह क्या बात है ...यानि गोया ये कि ...अनकही बातें यहां कही सुनी जाएंगी , और इसके बाद वो अनकही से कही सुनी की श्रेणी में आती चली जाएंगी ..हमारे द्वारा बोली गई दो पंक्तियों के बीच एक जो अनदेखी और कई बार महसूस की गई बात होती है वो अनकही बातें ...बहुत खूब टीम वर्क के लिए विशेष बधाई और शुभकामनाएं

nasirzaidi786 said...

बातें जो अनकही रह जाएँ वही बातें हैं जो कह दिया जाए उसमे बात कहाँ रह जाती है.दीप्ति साहिबा बेहद खूबसूरत नाम दिया है आपने अपने ब्लॉग को.अल्लाह से इसकी कामयाबी की दुआ करता हूँ.

धनपत स्वामी said...

अति सुन्दर.....नये ब्लोग की बधाई भी.....

दीप्ति शर्मा said...

aap sabhi ka bahut bahut aabhar

Nitti said...

Haryana walo ki to baat hi alag hai.... Jai Bharat... Jai Haryana
Jai Jawan Jai kisan.........

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...