Saturday, March 31, 2012

जिस काम को दिल ना करे - ना करे तो अच्छा....

जिस काम को दिल ना करे - ना करे तो अच्छा
दिल के मामले में दिमाग ना लगे तो अच्छा

यूं तो तन्हा ज़िंदगी कभी अच्छी नहीं लगती
जो तन्हाई में तन्हाई ना लगे तो अच्छा

दिलबर को बेवफा होना है तो होगा ही
फिर भी अगर पता हमें ना लगे तो अच्छा

घुलो - मिलो - बातें करो चाहे जितनी मर्जी
पर सारे शहर से दिल ना लगे तो अच्छा

'चर्चित' तुम्हारी हर बात वैसे तो है सही 
लेकिन किसी के दिल को जो ना लगे तो अच्छा

3 comments:

संजय भास्कर said...

.....बहुत शानदार

प्रवीण पाण्डेय said...

या कहें तो हर काम मन लगा कर करें।

Chirag Joshi said...

dil ko accha na lage to kuch bhi accha nahi hain...

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...